harihar kaka question answer

Score 100% in Hindi - बोर्ड परीक्षा की तैयारी को सुपरचार्ज करें: हमारे SuccessCDs कक्षा 10 हिंदी कोर्स से परीक्षा में ऊँचाईयों को छू लें! Click here

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Sanchayan Bhag 2 हरिहर काका Important Question Answers Lesson 1

Class 10 Hindi हरिहर काका Question Answers – Looking for Harihar Kaka question answers for CBSE Class 10 Hindi Sanchayan Bhag 2 Book Lesson 1? Look no further! Our comprehensive compilation of important questions will help you brush up on your subject knowledge.

सीबीएसई कक्षा 10 हिंदी संचयन भाग 2 पुस्तक पाठ 1 के लिए हरिहर काका प्रश्न उत्तर खोज रहे हैं? आगे कोई तलाश नहीं करें! महत्वपूर्ण प्रश्नों का हमारा व्यापक संकलन आपको अपने विषय ज्ञान को बढ़ाने में मदद करेगा। कक्षा 10 के हिंदी प्रश्न उत्तर का अभ्यास करने से बोर्ड परीक्षा में आपके प्रदर्शन में काफी सुधार हो सकता है। हमारे समाधान इस बारे में एक स्पष्ट विचार प्रदान करते हैं कि उत्तरों को प्रभावी ढंग से कैसे लिखा जाए। हमारे हरिहर काका प्रश्न उत्तरों को अभी एक्सप्लोर करें उच्च अंक प्राप्त करने के अवसरों में सुधार करें।

The questions listed below are based on the latest CBSE exam pattern, wherein we have given NCERT solutions to the chapter’s extract based questions, multiple choice questions, short answer questions, and long answer questions

Also, practicing with different kinds of questions can help students learn new ways to solve problems that they may not have seen before. This can ultimately lead to a deeper understanding of the subject matter and better performance on exams. 

Score 100% in Hindi - बोर्ड परीक्षा की तैयारी को सुपरचार्ज करें: हमारे SuccessCDs कक्षा 10 हिंदी कोर्स से परीक्षा में ऊँचाईयों को छू लें! Click here

 

Class 10 Hindi हरिहर काका Question Answers Lesson 1 – सार-आधारित प्रश्न (Extract Based Questions)

सार-आधारित प्रश्न बहुविकल्पीय किस्म के होते हैं, और छात्रों को पैसेज को ध्यान से पढ़कर प्रत्येक प्रश्न के लिए सही विकल्प का चयन करना चाहिए। (Extract-based questions are of the multiple-choice variety, and students must select the correct option for each question by carefully reading the passage.)

 

1. हरिहर काका के यहाँ से मैं अभी-अभी लौटा हूँ। कल भी उनके यहाँ गया था, लेकिन न तो वह कल ही कुछ कह सके और न आज ही। दोनों दिन उनके पास मैं देर तक बैठा रहा, लेकिन उन्होंने कोई बातचीत नहीं की। जब उनकी तबियत के बारे में पूछा तब उन्होंने सिर उठाकर एक बार मुझे देखा। फिर सिर झुकाया तो मेरी ओर नहीं देखा। हालाँकि उनकी एक ही नज़र बहुत कुछ कह गई। जिन यंत्रणाओं के बीच वह घिरे थे और जिस मनः स्थिति में जी रहे थे, उसमें आँखे ही बहुत कुछ  कह देती हैं, मुँह खोलने की जरूरत नहीं पड़ती।

 

प्रश्न 1. हरिहर काका कौन है?
उतर :- हरिहर काका लेखक (मिथिलेश्वर) के पड़ोसी और इस कहानी के नायक ।

प्रश्न 2. हरिहर काका के यहाँ से अभी-अभी कौन लौटा था?
उतर :- लेखक

प्रश्न 3. यंत्रणा का क्या अर्थ है-
उतर:-  कलेश या कष्ट

प्रश्न 4. हरिहर काका किस मनः स्थिति में जी रहे थे?
उतर:- दुख और परेशानी

Score 100% in Hindi - बोर्ड परीक्षा की तैयारी को सुपरचार्ज करें: हमारे SuccessCDs कक्षा 10 हिंदी कोर्स से परीक्षा में ऊँचाईयों को छू लें! Click here

 

2. मेरा गाँव कस्बाई शहर आरा से चालीस किलोमीटर की दुरी पर है। हसनबाजार बस स्टैंड के पास। गाँव की कुल आबादी ढाई-तीन हज़ार होगी। गाँव में तीन प्रमुख स्थान हैं। गाँव के पश्चिम किनारे का बड़ा-सा तालाब। गाँव के मध्य स्थित बरगद का पुराना वृक्ष और गाँव के पूरब में ठाकुर जी का विशाल मंदिर, जिसे गाँव के लोग ठाकुरबारी कहते हैं।

 

प्रश्न 1. किसका गाँव कस्बाई शहर आरा से चालीस किलोमीटर की दुरी पर था ?
उतर:- लेखक का

प्रश्न 2. गाँव के बीच में क्या स्थित था?
उतर:- बरगद का पुराना वृक्ष 

प्रश्न 3. गाँव के लोग ठाकुरबारी किसे कहते थे।
उतर:- ठाकुर जी का विशाल मंदिर को

3. फिर एकांत कमरे में उन्हें बैठा, खूब प्रेम से समझाने लगे-” हरिहर! यहाँ कोई किसी का नहीं है। सब माया का बंधन है। तू तो धार्मिक प्रवृति का आदमी है। मैं समझ नहीं पा रहा हूँ कि तुम इस बंधन में कैसे फँस गए? ईश्वर में भक्ति लगाओ।

 

प्रश्न 1. हरिहर काका को कौन एकांत में बैठाकर प्रेम से समझाने लगा?
उतर:- ठाकुरबारी का महंत

प्रश्न 2. महंत किसे ईश्वर की भक्ति करने लिए बोल?
उतर:- हरिहर काका को 

Top

 

Class 10 Hindi Sanchayan Lesson 1 हरिहर काका बहुविकल्पीय प्रश्न (Multiple Choice Questions)

बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQs) एक प्रकार का वस्तुनिष्ठ मूल्यांकन है जिसमें एक व्यक्ति को उपलब्ध विकल्पों की सूची में से एक या अधिक सही उत्तर चुनने के लिए कहा जाता है। एक एमसीक्यू कई संभावित उत्तरों के साथ एक प्रश्न प्रस्तुत करता है।

 

प्रश्न 1- हरिहर काका कहानी के लेखक कौन हैं ?
(A) गुरदयाल सिंह
(B) मिथिलेश्वर
(C) कोई नहीं
(D) दयाल सिंह

प्रश्न 2- ठाकुरबारी के प्रति गांव वालों के मन में क्या है?
(A) अपार श्रद्धा
(B) घृणा
(C) नफरत
(D) प्रेम

प्रश्न 3- ठाकुरबारी के गांव के लोगों ने मंदिर कैसे बनवाया था?
(A) पैसो से
(B) ठाकुर के पैसो से
(C) चंदा इकट्ठा करके
(D) कोई नहीं

प्रश्न 4- गांव के लोग अपनी सफलता का श्रेय किसको देते हैं?
(A) सरपंच को
(B) ठाकुरबारी जी को
(C) स्वयं को
(D) कोई नहीं

प्रश्न 5- ठाकुरबारी में लोग अपनी श्रद्धा कैसे व्यक्त करते है ?
(A) रुपए देकर
(B) जेवर
(C) सभी
(D) अन्न देकर

प्रश्न 6- ठाकुरबारी के नाम पर कितने खेत हैं ?
(A) १० बीघे
(B) २० बीघे
(C) ३० बीघे
(D) २ बीघे

प्रश्न 7- गांव वालों की अपार श्रद्धा से उनकी किस मनोवृत्ति का पता चलता है ?
(A) अंधभक्ति
(B) अविश्वास
(C) धार्मिक प्रवृत्ति का
(D) विश्वास की

प्रश्न 8- महंत और हरिहर काका के भाई एक ही श्रेणी के क्यों हैं ?
(A) दोनों दुर्व्यवहार करते हैं
(B) दोनों ने ज़मीन हथियाने का षड्यंत्र किया
(C) दोनों
(D) कोई नहीं

प्रश्न 9- महंत ने हरिहर काका की किस परिस्थिति का लाभ उठाया ?
(A) पारिवारिक मजबूरी का
(B) गरीबी का
(C) पारिवारिक नाराजगी का
(D) नाराजगी का

प्रश्न 10- महंत ने हरिहर काका को किस आधार पर ब्लैकमेल किया ?
(A) भावनात्मक आधार पर
(B) परिवार के नाम पर
(C) धर्म के नाम पर
(D) कोई नहीं

प्रश्न 11- कथा वाचक और हरिहर काका के में क्या संबंध है ?
(A) दोनों दोस्त हैं
(B) एक ही परिवार से हैं
(C) दोनों एक ही गांव के निवासी हैं
(D) कोई नहीं

प्रश्न 12- हरिहर काका कथा वाचक को कैसे घुमाया करते थे ?
(A) साइकिल पर
(B) अपने कंधे पर बैठा कर
(C) पैदल
(D) अंगुली पकड़ कर

प्रश्न 13- हरिहर काका की संपत्ति के दावेदार कौन थे ?
(A) महंत
(B) हरिहर काका के भाई
(C) दोनों
(D) कोई नहीं

प्रश्न 14- हरिहर काका और कथावाचक आपस में कैसे बातें करते थे ?
(A) खुल कर
(B) छुप कर
(C) कोई नहीं
(D) घुल घुल कर

प्रश्न 15- हरिहर काका के गांव में यदि मीडिया होती तो उनकी स्थिति कैसी होती ?
(A) लड़ाई झगड़े होते
(B) वास्तविकता का सबको पता चलता और उनकी स्थिति बेहतर होती
(C) कोई नहीं
(D) बात और बढ़ती

प्रश्न 16- हरिहर काका की कहानी का उद्देश्य क्या है ?
(A) स्वार्थी और हिंसा वृत्ति को बेनकाब करना
(B) पारिवारिक झगड़े दिखाना
(C) संपत्ति का लालच दिखाना
(D) टी आर पी बढ़ाना

प्रश्न 17- पुलिस के जवान हरिहर काका की सुरक्षा के नाम पर क्या करते थे ?
(A) ड्यूटी
(B) मौज मस्ती
(C) कुछ नहीं
(D) मौज

प्रश्न 18- हरिहर काका की हालत की तुलना लेखक ने किसके साथ की है ?
(A) मछली के साथ
(B) चूहे के साथ
(C) जाल में फंसी चिड़िया से
(D) जाल में फंसे आदमी के साथ

प्रश्न 19- हरिहर काका से कागज़ो पर अंगूठे कैसे लगवाए गए ?
(A) उन्हें सब कुछ पढ़ कर सुना कर
(B) जबरन धोखे से
(C) कोई नहीं
(D) बन्दूक दिखा कर

प्रश्न 20- ठाकुरबारी में पूजा पाठ के अलावा और क्या होता था?
(A) धन संपत्ति धर्म के नाम पर लूटी जाती
(B) अनैतिक गतिविधियां
(C) सभी
(D) कोई नहीं

प्रश्न 21- महंत कैसा व्यक्ति था ?
(A) अच्छा
(B) प्रभु भक्त
(C) ठग और डाकू
(D) डाकू

प्रश्न 22- महंत लोगों को कैसे फंसाते थे ?
(A) धर्म का भय दिखा कर
(B) धोखे से
(C) सभी
(D) कोई नहीं

प्रश्न 23- संपत्ति के लिए अपने भी पराये हो जाते हैं से क्या भाव है ?
(A) संपत्ति के कारण लोग स्वार्थी और लालची हो जाते हैं
(B) सम्पत्ति बहुत खराब चीज है
(C) संपत्ति खराब है
(D) कोई नहीं

प्रश्न 24- हरिहर काका के जीवन के शेष बचे दिन कैसे काट रहे थे ?
(A) मौन रह कर
(B) वे बोलने की सामर्थ्य खो चुके थे
(C) सभी
(D) नौकर रख कर

प्रश्न 25- हरिहर काका के भाई ने कैसा सलूक किया ?
(A) अच्छा
(B) प्रेम भरा
(C) बहुत बुरा और धोखे के साथ सम्पत्ति हड़पने की कोशिश की
(D) कोई नहीं

प्रश्न 26- इस कहानी में साधु संतों के किस रूप को दिखाया गया है ?
(A) धर्म प्रचारक
(B) धार्मिक
(C) ठग और डाकू प्रवृत्ति को
(D) कोई नहीं

प्रश्न 27- हरिहर काका ने दो शादियां क्यों की ?
(A) धन अर्जित करने के लिए
(B) शौंक के लिए
(C) औलाद पाने के लिए
(D) कोई नहीं

प्रश्न 28- हरिहर काका के परिवार के पास कितने बीघा खेत हैं ?
(A) ६० बीघा
(B) २० बीघा
(C) ३० बीघा
(D) ६ बीघा

प्रश्न 29- प्रत्येक भाई के हिस्से में कितने बीघा खेत आये ?
(A) १५ बीघा
(B) २५ बीघा
(C) २० बीघा
(D) १ बीघा

प्रश्न 30- ‘हरिहर काका धीरे-धीरे चलते हुए आगँन तक पहुँचे।’ रेखांकित पदबंध का भेद है- (CBSE 2022-23)
(A) संज्ञा पदबंध
(B) क्रिया पदबंध
(C) विशेषण पदबंध
(D) क्रिया विशेषण पदबंध

 

Answer Key for Class 10 Hindi Chapter 1 Harihar Kaka MCQs

 

Question No.
Answer
Question No.
Answer
1
B
16
A
2
A
17
B
3
C
18
C
4
B
19
B
5
C
20
A
6
B
21
C
7
C
22
C
8
C
23
A
9
C
24
C
10
C
25
C
11
C
26
C
12
B
27
C
13
C
28
A
14
A
29
A
15
B
30
D

Top

 

 

Class 10 Hindi हरिहर काका प्रश्न और उत्तर (Question Answers) (including questions from Previous Years Question Papers)

In this post we are also providing important questions for CBSE Class 10 Boards in the coming session. These questions have been taken from previous years class 10 Board exams and the year is mentioned in the bracket along with the question.

 

प्रश्न 1. लोगों के बीच बहस छिड़ जाती है। उत्तराधिकारी के कानून पर जो जितना जानता है, उससे दस गुना अधिक उगल देता है। फिर भी कोई समाधान नहीं निकलता। रहस्य खत्म नहीं होता, आशंकाएँ बनी ही रहती हैं। लेकिन लोग आशंकाओं को नजरअंदाज कर अपनी पक्षधरता शुरू कर देते हैं।
हरिहर काका सभी के लिए चर्चा का केंद्र बने हुए थे। हरिहर काका मामले में गाँव वालों की राय तर्क सहित स्पष्ट कीजिए। (CBSE 2022-23)
उतर :- गाँव वालों की अलग-अलग राय होने के कारण दो दल बन गए थे।

  • गाँव में एक तरफ़ चटोरे किस्म के लोग थे जो ठाकुरबारी में प्रसाद के बहाने तर माल खाते थे। वे महंत के पक्षधर थे। वे चाहते थे कि हरिहर काका को अपनी जमीन ठाकुरबारी के नाम लिख देनी चाहिए। इससे उन्हें पुण्य मिलेगा तथा उनकी कीर्ति स्थायी रहेगी।
  • दूसरा दल ठाकुरबारी के धार्मिक पाखंड को भली- भांति जानने वालों का था। वे भाइयों के परिवार के समर्थक थे। उनकी राय थी कि हरिहर काका को अपनी जमीन भाइयों के नाम लिख देनी चाहिए। उन्हें यही राय न्यायपूर्ण प्रतीत होती थी।

प्रश्न 2. कल भी उनके यहाँ गया था, लेकिन न तो वह कल ही कुछ कह सके और न आज ही। दोनों दिन उनके पास मैं देर तक बैठा रहा, लेकिन उन्होंने कोई बातचीत नहीं की। जब उनकी तबीयत के बारे में पूछा तब उन्होंने सिर उठाकर एक बार मुझे देखा फिर सिर झुकाया तो दुबारा मेरी ओर नहीं  देखा हालाँकि उनकी एक ही नज़र बहुत कुछ कह गई। जिन यंत्रणाओं के बीच वह घिरे थे और जिस मनः स्थिति में जी रहे थे, उसमें आँखें ही बहुत कुछ कह देती है, मुँह खोलने की जरूरत नहीं पड़ती।
हरिहर काका की पंद्रह बीघे ज़मीन उनके लिए जी का जंजाल बन गई। कथन के आलोक में अपने विचार व्यक्त कीजिए। (CBSE 2021-22)
उत्तर – हरिहर काका और लेखक के बीच बहुत ही मधुर एवं आत्मीय संबंध थे | लेखक गाँव में जिन लोगों का सम्मान करते थे हरिहर काका उनमें से एक थे। हरिहर काका की आँखों में लेखक ने उस दुख को देखा जो रिश्तों की गर्माहट के भावों को नकारता हुआ तथा पाँव पसारती हुई, स्वार्थ लिप्सा और धर्म की आड़ में फलने-फूलने का अवसर पा रही हिंसा प्रवृत्ति को उजागर करता है।
ठाकुरबारी के महंत एवं हरिहर काका के भाइयों का एकमात्र उद्देश्य हरिहर काका की पंद्रह बीघे ज़मीन को हथियाना था। इसके लिए उन्होंने कई तरह के हथकंडे अपनाए और हरिहर काका पर बहुत जुल्म और अत्याचार किए। उनके विश्वास को ठेस पहुँचाई। ठाकुरबारी के महंत ने ज़बरदस्ती सादे कागज़ पर अँगूठे के निशान लिए, उन्हें मारा-पीटा तथा हाथ पाँव और मुँह बांधकर कमरे में बंद कर दिया। हरिहर के भाइयों ने भी ऐसा ही किया। भौतिक सुखों की होड़, रिश्तों की अहमियत को औपचारिकता और आडंबर का जामा पहनाना इत्यादि के कारण हरिहर की पंद्रह बीघे ज़मीन उनके लिए जी का जंजाल बन गई थी।

प्रश्न 3. महंत और अपने भाई हरिहर काका को एक जैसे क्यों लगने लगते है? ‘हरिहर काका’ कहानी के आधार पर स्पष्ट कीजिए (CBSE 2020-21)|
उतर : – हरिहर काका को महंत और अपने सगे भाई एक जैसे इसलिए लगने लगते है क्योंकि दोनों ही स्वार्थ में डूबे हुए थे । और दोनों ही हरिहर काका के जमीन-जायदाद को हड़पना चाहते थे ।और उनकी जमीन को पाने के लिए वे किसी भी हद तक गिर सकते थे। यहां तक कि दोनों हरिहर काका की जान तक लेने को तैयार थे । दिखावा करने के अलावा दोनों कुछ नहीं करते थे ।

प्रश्न 4. ‘हरिहर काका एक सीधे साधे और भोले किसान की अपेक्षा चतुर हो चले थे’ कथन के संदर्भ में 60-70 शब्दों में विचार व्यक्त कीजिए (CBSE 2019-20)
उतर : – हरिहर काका को जहाँ पहले सीधे-सादे और भोले किसान के रूप में चित्रित किया गया है, वहीं कटु अनुभवों के चलते उनमें चातुर्य कौशल भी दिखाई पड़ता है। अनपढ़ होते हुए भी हरिहर काका दुनिया की बेहतर समझ रखते हैं। इसलिए अपनी ज़मीन-जायदाद को लालची लोगो से बचाना चाहते थे। एक बार ठाकुरबारी के महंत ने भी हरिहर काका से लाभ उठाने की योजना बनाई । महंत ने काका से कहा कि ठाकुरबारी के नाम जमीन दान करने से उन्हें पुण्य मिलेगा और वे सीधे स्वर्ग जाएंगे। और काका के सगे भाई भी उनसे उनकी ज़मीन-जायदाद को अपने नाम करने को कहते हैं और इसके बदले में उनका आदर-सत्कार व देखभाल करते हैं। हरिहर काका महंत और अपने भाइयों की बातों को ध्यानपूर्वक सुनते, पर किसी की भी बात को नहीं मानते, क्योंकि वह जानते थे, कि इसी गाँव में कई लोगों ने अपनी जमीन-जायदाद को अपने रिश्तेदारों या किसी और के नाम लिख दिया। बाद में उनका जीवन किसी कुत्ते की तरह हो गया और उन्हें कोई पूछने वाला भी नहीं था। हरिहर काका धोखे में नहीं पड़ना चाहते थे। इसलिए वे जीते-जी अपनी जमीन किसी के भी नाम नहीं करना चाहते थे।

प्रश्न 5. ‘हरिहर काका’ पाठ के आधार पर बताइए कि धर्म के नाम पर किस तरह साधारण जन की भावनाओं से खेला जाता है? (CBSE 2018-19)
उतर : – ‘हरिहर काका’ पाठ में धर्म के नाम पर सीधे – सादे गाँव के लोगों को ठाकुरबारी के नाम पर बेवकूफ बनाया जाता है और धर्म के ठेकेदारों द्वारा जैसे महंत इत्यादि लोग केवल आराम से ठाट – बाट का जीवन व्यतीत करते है तथा लोगों से पैसा, जमीन हड़पना, समय आने पर गुंडागर्दी मारपीट या हिंसा पर उतर आना और काका जैसे लोगों से जमीन हथियाने के लिए पहले बहलाना – फुसलाना फिर न मानने उन्हें बंधक बनाकर जबरदस्ती अंगूठा लगवाना इत्यादि काम करते है।

प्रश्न 6. समाज में रिश्तों की क्या अहमियत है? ‘हरिहर काका’ पाठ के आधार पर बताइए । (CBSE 2017-18)
उतर : – ‘आधुनिक युग रिश्ते भावनाओं की सीमाओं से परे केवल धन-दौलत पर आधारित है, हरिहर काका अपनी मर्जी से चाहे सब कुछ अपने भाइयों को ही देते लेकिन भाइयों के लालच व आतुर स्वभाव के कारण उनकी असलियत सामने आ गई, ठाकुरबारी के महंत यूं तो धर्म का ठेकेदार परंतु वह भी लालच के कारण इंसानियत की सारी हदों को पार कर गया। हरिहर काका को न तो अपनों से प्यार मिला और न ही दूसरों से हमदर्दी। आज के रिश्ते केवल दिखावे के लिए है और अंदर से खोखले।

प्रश्न 7. हरिहर काका पाठ के कौन से अंश ने आपके मन को अधिक प्रभावित किया और क्यों? अपने शब्दों में लिखिए।
उतर :- यह सत्य है कि हरिहर काका पाठ का कुछ अंश बहुत मार्मिक हैं जो पाठकों के मन को छू लेते हैं, परंतु जब अपने सगे भाइयों के द्वारा हरिहर ‘काका’ पर हमला किया जाता है, तो वह अंश ‘क्रूरता’ की सीमा को पार कर जाता है। आज समाज से लोगों के संस्कार और पारिवारिक मूल्य धीरे-धीरे लुप्त होते जा रहे हैं। ज्यादातर लोग अपने स्वार्थ के लिए रिश्ते रखते हैं। लेकिन सच यह है कि सुख-दुख में रिश्ते ही काम आते हैं, परंतु यह अत्यंत दुख की बात है आज की दुनिया में लोग स्वार्थी होते जा रहे हैं। इससे रिश्तों से प्यार और भाईचारे की भावना गायब हो रही है। इस कहानी में भी अगर पुलिस समय पर नहीं आती तो परिवार वाले हरिहर काका की हत्या कर देते। आज रिश्तों से ज्यादा पैसे को महत्व दिया जा रहा है।

प्रश्न 8. हरिहर काका ने आँगन में थाली उठाकर क्यों फेंक दी?
उतर :- हरिहर काका अपने घर के दालान में बीमार पड़े थे, लेकिन उनके भाई के घर वाले उनका ध्यान नहीं रख रहे थे । इसलिए हरिहर काका बहुत दुखी थे। इसी बीच शहर में क्लर्की करने वाले भतीजे का एक दोस्त गांव आया तो घर में उसके लिए अच्छे पकवान बनाए गए, लेकिन हरिहर काका को रूखा-सूखा ही खाना परोसा। इसी कारण हरिहर काका ने खाने की थाली उठाकर आँगन में फेंक दी। 

प्रश्न 9. ‘अपने भी पराये बन जाते हैं- संपत्ति के लिए’ हरिहर काका कहानी के आधार पर सिद्ध कीजिए।
उतर :- हरिहर काका कहानी से यह पता चलता है कि संपत्ति के लिए अपने भी पराये बन जाते हैं। हरिहर काका की पंद्रह बीघे ज़मीन के लिए गाँव के ठाकुरबारी के महंत व साधु संत ही नहीं, बल्कि हरिहर काका के सगे भाई-बन्धु भी उनके साथ दुर्व्यवहार करने लग गए थे। एक बार उनके भाइयों ने उनके साथ बहुत ही ज्यादा बुरा व्यवहार किया, जबरदस्ती बहुत से कागजों पर उनके अँगूठे के निशान ले लिए और उनके विरोध करने पर वे काका पर प्रहार भी करने लगे थे। काका के चिल्लाने पर उन्होंने उनके मुँह में कपड़ा भी ठूंस दिया। अब ऐसा कोई भी बुरा व्यवहार बाकी नहीं रहा है जो उनके साथ न हुआ हो । इस प्रकार हम देखते हैं कि हरिहर काका को अपने ही लोगों से ठेस पहुँची।

प्रश्न 10. हरिहर काका की नजर में महंत कब घृणित और दुराचारी नज़र आने लगा?
उतर :-  हरिहर काका गाँव के एक सम्मानित बुजुर्ग थे । उनके पास पंद्रह बीघा जमीन थी । पर उनकी अपनी कोई संतान नहीं थी। इसलिए उनके तीनों भाई तथा ठाकुरबारी के महंत उनकी जमीन को हड़पने के लालच में थे। हरिहर काका के जिंदा रहते हुए अपनी जमीन किसी के नाम न लिखने के फैसले ने महंत को परेशान कर दिया। तब महंत ने काका को अगवा कर जमीन के कागजात पर अंगूठा लगाने को मजबूर किया और इसके बाद उन्हें बहुत बुरी तरह प्रताड़ित किया। महंत के इसी छलावे के कारण हरिहर काका को वह घृणित और दुराचारी नजर आने लगा।

प्रश्न 11. महंत जी ने हरिहर काका को एकांत कमरे में बैठाकर प्रेम से क्या समझाया? अपने शब्दों में लिखिए।
उतर :-  महंत जी ने एकांत कमरे में हरिहर काका को बैठाकर यह समझाया कि ये रिश्ते-नाते स्वार्थ पर टिके होते हैं। महंत ने हरिहर काका की खूब सेवा की और विभिन्न प्रकार का लालच देकर काका की जमीन हड़पने का प्रयास भी किया। लेकिन अंत में महंत ने काका से कहा कि ठाकुरबारी के नाम जमीन दान करने से उन्हें पुण्य मिलेगा और वे सीधे स्वर्ग जाएंगे। जब तक यह ठाकुरबारी रहेगी तब तक इसके साथ तुम्हारा नाम भी जुड़ा रहेगा और इसका लाभ तुम्हें अगले जन्मों तक मिलता रहेगा।इस तरह से महंत ने काका से ज़बरदस्ती कागज़ पर अंगूठे के निशान ले लिए।

प्रश्न 12. ठाकुरबारी के विषय में लेखक के क्या विचार थे?
उतर :-  लेखक का ठाकुरबारी के बारे में यह विचार था कि यह अंधविश्वास और पाखंड का स्थान है। एक समय में, ठाकुरबारी के संत और महंत जीवित रहने के लिए गाँव के लोगों के दान पर निर्भर थे, लेकिन जैसे-जैसे जनसंख्या बढ़ती गई, ‘ठाकुरबारी’ का रूप बदल गया। गाँव के लोगों का मानना ​​था कि उन्होंने जो कुछ भी हासिल किया है वह ठाकुर जी की कृपा से हुआ है। उदाहरण के लिए पुत्र के जन्म पर वे ठाकुर जी को भेंट के रूप में धन, आभूषण, भूमि, या कुछ भी देते थे। ग्रामीणों में ठाकुर जी के प्रति अगाध श्रद्धा थी, जिसे लेखक ने धार्मिक अंधविश्वास और पाखंड के रूप में प्रकट किया है।

प्रश्न 13. हरिहर काका के परिवार का स्वरूप कैसा था?
उतर :-  हरिहर काका के परिवार में हरिहर काका की दो पत्नियां थीं जो स्वर्ग सिधार चुकी थीं और हरिहर काका की कोई संतान नहीं थी। हालाँकि, उनके अन्य भाइयों के बच्चे थे, और उनका भरा-पूरा परिवार था। हरिहर काका के बड़े भाई व छोटे भाई के बच्चे सयाने हो गए थे। दो की शादियाँ हो गई थीं। उनमें से एक पढ़-लिखकर शहर के किसी दफ्तर में क्लर्क का काम करने लग गया था। भाइयों में हरिहर काका का नंबर दूसरा था। बुढ़ापे में हरिहर काका प्रेम व इत्मीनान से अपने भाइयों के परिवार के साथ रहते थे।

प्रश्न 14. हरिहर काका को पुलिस सुरक्षा क्यों प्रदान की गई?
उतर :-  हरिहर काका पर दो बार हमला हुआ, लेकिन दोनों बार वे बच गए। एक बार ठाकुरबारी के साधु-संतों ने उनका अपहरण कर लिया और उन्हें मारने की कोशिश की, लेकिन वे बच गए । दूसरी बार, हरिहर काका ने अपनी ज़मीन अपने भाइयों को नहीं दी तो उन्होंने जान से मारने और जमीन में गाड़ देने की धमकी दी। लेकिन पुलिस समय पर आकर उनकी मदद की और इस तरह हरिहर काका बच गए। और बाद में हरिहर काका की जान की सुरक्षा व अपहरण से बचाने के लिए उन्हें पुलिस सुरक्षा प्रदान की गई।

प्रश्न 15. हरिहर काका की दयनीय स्थिति का वर्णन अपने शब्दों में कीजिए।
उतर :-  हरिहर काका की स्थिति बहुत ही दयनीय थी। वो खुद को दुनिया में बहुत अकेला महसूस करते थे। उनके मन में भय, उदासी, हताशा और निराशा ने घर कर लिया था। एक बार उनका अपहरण भी कर लिया गया था। उनके भाइयों और ठाकुरबारी के संतों ने भी उन्हें बुरी तरह पीटा और जान से मारने की धमकी दी। इसके अलावा उनकी दो पत्नियां स्वर्ग सिधार गई थीं। वे निःसंतान थे। वह इस दुनिया में अकेले रहने को मजबूर थे। वे लाचार और असहाय थे।

प्रश्न 16. हरिहर काका ने सबसे बात करना बंद क्यों कर दिया था?
उतर :-  हरिहर काका के साथ उनके भाइयों और परिवार के अन्य सदस्यों ने दुर्व्यवहार किया था और उन्हें जान से मारने की कोशिश भी की थी। और हरिहर काका को जिस महंत पर विश्वास था उसने भी उनके विश्वास को तोड़ दिया था। इसलिए हरिहर काका बहुत परेशान थे क्योंकि उन्हें लगता था कि अब वे लोगों पर भरोसा नहीं कर सकते। इसलिए काका ने लोगों से बात करना बंद कर दिया और वे उदास और परेशान रहने लगे थे।

प्रश्न 17. महंत ने क्या कहकर हरिहर काका के मन में उनके परिवार के प्रति जहर भरा?
उतर :-  महंत हरिहर काका के पास बैठे थे, तभी उनकी भाइयों के परिवार वालों से कहा-सुनी हो गई। महंत ने इस मौके का फायदा उठाया और हरिहर काका के कानों में जहर घोल दिया, यह कहते हुए कि भाइयों के बीच रिश्ते झूठे हैं और सब स्वार्थ के कारण बँधे है। यहाँ कोई किसी का नहीं है। सब माया का बंधन है। भाई-बंधु और सगे संबंधी सभी अपनी स्वार्थी इच्छाओं से प्रेरित लोग हैं। अगर उन्हें वह नहीं मिला जो वे चाहते हैं तो वही तुम्हें पूछेंगे तक नहीं। और ना ही आपसे बात करेंगे। खून का रिश्ता भी खत्म हो जाएगा। यही बात महंत ने हरिहर काका को बताने की कोशिश की ताकि उनके मन में अपने भाइयों के प्रति नफरत पैदा हो जाए।

प्रश्न 18. हरिहर काका को उनके घर से जबरन कौन उठा ले गया? और उनके साथ उन्होंने कैसा व्यवहार किया?
उत्तर:- हरिहर काका को उनके घर से जबरन उठाने वाले महंत के आदमी थे। वे रात के समय हथियारों के साथ आते है और काका को ठाकुरबारी उठा कर ले जाते हैं। वहाँ उनके साथ बड़ा ही दुर्व्यवहार किया जाता है। उन्हे बहुत मारा पीटा जाता है और जबरदस्ती सादे कागजों पर अँगूठे का निशान ले लिया जाता है। उसके बाद उनके मुहँ में कपड़ा ठूँसकर उन्हें अनाज के गोदाम में बंद कर दिया जाता है।

Top
Also See: 

 

Score 100% in Hindi - बोर्ड परीक्षा की तैयारी को सुपरचार्ज करें: हमारे SuccessCDs कक्षा 10 हिंदी कोर्स से परीक्षा में ऊँचाईयों को छू लें! Click here