Home >> Class 10 >>

Tips to score 95% in class 10 Hindi paper

Here, we are going to discuss how to score 95% marks in CBSE Class 10 Hindi examination. If you are not happy with your marks or want to score maximum marks, you should follow these instructions.

 

score marks in hindi

 

हिंदी बोर्ड परीक्षा में 95 %अंक कैसे लाए

सबसे पहले हम बात करते हैं कि  भाग हल करने का क्रम क्या रहेगा -

 

Advertisement:

 

 

कौन सा भाग पहले शुरू करे

Which Section should be attempted first in Class 10 Hindi examination

हिंदी के प्रश्न पात्र में 4 भाग होते हैं -

भाग क- पठन कौशल ।  पठन कौशल में दो प्रकार के प्रश्न आते हैं -

1)अपठित गद्यांश

2)अपठित काव्यांश

भाग ख- व्याकरण

भाग ग- साहित्य  

भाग घ- लेखन ।  लेखन में तीन प्रकार के प्रश्न आते हैं -

1)निबंध लेखन

2)औपचारिक एवं अनौपचरिक पत्र

3)विज्ञापन लेखन  

 

score marks

 

सबसे पहले आपको (क) भाग करना चाहिए । इसके मुख्य कारण इस प्रकार हैं -

इसमें गद्यांश और काव्यांश को पढने और समझने की जरूरत होती है , इसे आप शुरू में करेंगे तो अच्छे से कर पाएंगे।

 

score marks

 

फिर (घ) भाग करना चाहिए । इसके मुख्य कारण इस प्रकार हैं -

  1. अब तक आपने उतना नहीं लिखा है और आपका हाथ ज्यादा चला नहीं है और थका नहीं है इसलिए लेखन का भाग लेना सही रहेगा।

  2. लेखन में भाग घ इसलिए क्योंकि इसमें भी आपको सोचने व समझने की जरुरत पड़ती है जिसमे समय लगता है।

 

score marks

 

फिर (ख) भाग करना चाहिए  । इसके मुख्य कारण इस प्रकार हैं -

जैसे कि आपने अभी- अभी लेखन का कार्य किया है, आपका हाथ थका हुआ है इसलिए अब व्याकरण का भाग करेंगे क्योंकि व्याकरण में ज्यादा न सोचना  पड़ता है और न ही ज्यादा लिखना पड़ता है।

 

score marks

 

अंत में (ग) भाग करना चाहिए । इसके मुख्य कारण इस प्रकार हैं -

  1. आपने साहित्य अच्छी तरह से पढ़ा होता है, आपको कहानी पता होती है और आपको पता होता है कि क्या लिखना है।

  2. अगर आपके पास कम समय भी रहता है तो भी आप साहित्य को कर सकते हैं।

 

score marks

 

Tips to score 95% or more in Class 10 Hindi examination

इन भागों को करते समय हमें निचे दी गई  सावधानियाँ बर्तनी चाहिए -

भाग( क )को करते समय निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए -

1 ) अपठित पद्यांश को पढ़ने से पहले प्रश्नों को पढ़ लेना चाहिए।

2 ) काव्यांश में प्रश्नों को पढ़ने से पहले काव्यांश को पढ़ लेना चाहिए।

3 )परीक्षा से 10 दिन पहले, पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र हल करने का अभयास कर लें।

भाग (ख) को करते समय निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए -

व्याकरण की तयारी के लिए, इन तीनो विषयों पर बनाए वीडियो लेसंस की मदद लें -

विषयों की सूची

पद परिचय

 

 

वाच्य

वाक्य के भेद / वाक्य रूपांतर

 

 

पदबंध

 

 

संधि

 

 

समास

 

 

अशुद्धि शोधन

 

 

भाग (ग) को करते समय निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए-

1 ) सभी अध्यायों को कम से कम एक बार जरूर पढ़ें।

2 )कविताओं पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। उनके अर्थों और भावार्थों को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

भाग (घ) को करते समय निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए -

1 ) पत्र लेखन , निबंध लेखन इत्यादि की शरुवात और अंत को याद कर लेना चाहिए।

2 ) स्वरूपों को कम से कम तीन बार पढ़ लेना चाहिए।

3 ) शब्दों की सीमा को दिमाग में रखना चाहिए। यह आपका समय और ऊर्जा दोनों को बचाता है।

4 ) निबंध लेखन ,पत्र लेखन ,सूचना लेखन ,संवाद लेखन और विज्ञापन लेखन को शीर्षक ,उपशीर्षक और निष्कर्ष में बाँट लेना चाहिए।

 

How to allocate the given time of 3 hours between the different sections of the Class 10 Hindi examination paper

समय प्रबंध

आइये देखते हैं की विभिन्न्न भागों को कितना समय देना चाहिए -

भाग (क) - 30 मिनट

भाग (ख) - 20 मिनट

भाग (ग) - 60 मिनट

भाग (घ) - 45 मिनट

 

score marks

 

इस तरह समय को विभाजित करने के बाद भी आपके पास 25 मिनट बच जाते हैं -

1)15 मिनट आपको दोहराने के लिए रखने हैं।

2)10 मिनट आप उस भाग में लगा सकते हो जो आपको कठिन लगता हो।

 

score marks

 

Tips to improve the presentation of your answer book in Class 10 Hindi  examination

प्रदर्शन(Presentation)

उत्तर पुस्तक का सही प्रदर्शन करने के लिए  निम्न बातों का ध्यान करें -

1 )मुख्य शब्दों को मुख्याकर्षण देने के लिए पेंसिल का प्रयोग करना चाहिए।

2 )सभी प्रश्नों के बीच सही स्थान बनाकर रखना चाहिए।

3 )शीर्षक और उपशीर्षक को पेंसिल की सहायता से रेखांकित कर सकते हैं।

 

score marks

 

सबसे महत्वपूर्ण सुझाव -

1 )परीक्षा से दो दिन पहले पिछले वर्षों के कम से कम दो प्रश्न पत्रों को समय को ध्यान में रख कर पूरा करने का प्रयास करे।

2 )अशुद्धियों को कम करने के लिए कठिन शब्दों की जगह सरल व आसान शब्दों का प्रयोग करें। चित्र में  दिया उदाहरण देखें -

 

score marks